GK Questions In Hindi With Answers 2

GK Questions In Hindi
GK Questions In Hindi



INTERESTING GK QUESTIONS IN HINDI WITH ANSWERS



GK Questions In Hindi Quick Guide.

  • डॉक्टर्स ऑपरेशन करते समय हरे रंग के कपडे क्यों पहनते हैं?
  • डॉक्टर्स जानबूझकर गन्दी हैण्ड राइटिंग क्यों लिखते हैं?
  • एटीएम में 50 रुपये और उससे कम के नोट क्यों नहीं होते हैं?
  • हेलिकॉप्टर का माइलेज ( एवरेज ) कितना होता है?
  • भारत में 3 ब्लेड वाले पंखों का ही इस्तेमाल क्यों किया जाता है?



1. डॉक्टर्स ऑपरेशन करते समय हरे रंग के कपडे क्यों पहनते हैं?

GK Questions In Hindi
GK Questions In Hindi



GK Questions In Hindi. शुरुआत में सभी डॉक्टर्स और कर्मचारी सफ़ेद कपडे पहनते थे| साल 1914 में एक दिन तक एक प्रभावशाली डॉक्टर ने इस परंपरावादी ड्रेस को छोड़ कर हरे रंग के कपडे पहने थे, और बाद में नीले रंग के|
दोस्तों यह एक समस्या थी की एक बेदाग़ सफ़ेद रंग काफी देर तक देखने पर डॉक्टर्स को अँधा कर सकता था, यदि वह गहरे रंग के खून के दागों को अपने सहयोगियों के सफ़ेद ड्रेस पर देखता तो उसका ध्यान भटक सकता था|
तथ्य यह है की हरे और नील दृश्य प्रकाश के स्पेक्ट्रम लाल के विपरीत हैं और ऑपरेशन के दौरान एक डॉक्टर हमेसा लाल रंग पर ही अपना ध्यान केन्द्रित रखता है|
इस वजह से उनके हरे और नील रंग के कपडे एक सर्जन के दृश्य में सुधार में करता है, बल्कि उन्हें लाल रंग के विभिन्न रंगों के प्रति अधिक संवेदनशील बनाते हैं, जिसके नतीजन यह उन्हें मानव शारीर रचना की बारीकियों में अधिक ध्यान देने में मदद करता है, जो एक ऑपरेशन के दौरान किसी प्रकार की गलती की सम्भावना को भी कम करता है|



2. डॉक्टर्स जानबूझकर गन्दी हैण्ड राइटिंग क्यों लिखते हैं?

GK Questions In Hindi
GK Questions In Hindi


GK Questions In Hindi हम सभी कभी न कभी डॉक्टर्स के पास अपने बुखार की दावा लेने तो जरुर ही गए होंगे तो डॉक्टर ने एक परचा लिखा होगा और बोला होगा की ये दावा बहार मेडिकल स्टोर से खरीद लो...किन्तु जब अपने उस पर्चे को देखा होगा तो यकीं मानिये आपकी अब तक की गयी साडी पढाई बेकार साबित हुई होगी, क्योंकि आप की पूरी कोशिशों के बावजूद आप उसे पढ़ नहीं पाए होंगे...लेकिन वही परचा मेडिकल स्टोर वाले ने देखते ही दवाई निकालनी सुरु कर दी होगी...क्यूँ सही कहा न दोस्तों|
वैसे तो हमेसा से डॉक्टर्स की ख़राब हैण्ड राइटिंग का मजाक बनाया जाता रहा है| एक सर्वे के अनुसार जब कई डॉक्टर्स से यह पूछा गया की ऐसी ख़राब हैण्ड राइटिंग लिखने के पीछे क्या कारण है तो यह बात सामने निकल कर आई की जब वे मेडिकल की पढाई करते हैं तो उन्हें सिखाया जाता है की सब कुछ जल्दी जल्दी करना होता है|
इसके अलावा एग्जाम भी बहुत कम समय में दिया जाता है और अधिक एग्जाम होने के कारन ऐसा लिखने की आदत हो जाती है, इसके अलावा मरीजों की भी काफी ज्यादा भीड़ रहती है जिसके कारण उन्हें लिखने का काम जल्दीबाज़ी में करना पड़ता है जिसके बाद उनकी यह आदत परमानेंट हो जाती है यही कारण है की लगभग 99% डॉक्टर ऐसी गन्दी हैण्ड राइटिंग लिखते हैं जो आम आदमी के समझ में नहीं अति है|
डॉक्टर्स यह भी कहते हैं की अगर आप ऐसी फ़ास्ट हैण्ड राइटिंग लिखना सिख जाएँगे तो आपको डॉक्टर की लिखी हुई हैण्ड राइटिंग समझ में आने लगेगी, ऐसा भी माना जाता है की प्रत्येक साल 7000 मरीज केवल इस वजह से मर जाते हैं क्योंकि डॉक्टर की ख़राब हैण्ड राइटिंग को मेडिकल स्टोर वाला समझ नहीं पता और वह गलत दावा दे देता है|




3. एटीएम में 50 रुपये और उससे कम के नोट क्यों नहीं होते हैं?

GK Questions In Hindi
GK Questions In Hindi


GK Questions In Hindi यह बहुत ही सामान्य सी बात है की वर्तमान में एटीएम की तकनीक और उसकी सुरक्षा तथा उपलब्धता में काफी खर्च आता है और बैंकों के एनपीए को देखते हुए सर्कार अभी और अधिक एटीएम लगाने की स्थिति में नहीं है और अभी हाल के समय में हम जिस तकनीक के एटीएम का इस्तेमाल कर रहे है उनमे केवल चार तरह के बॉक्स का इस्तेमाल किया जा सकता है जिनमे एक 100 के नोट, एक 200 के नोट, एक 500 के नोट और एक 2000 के नोट के लिए एटीएम में लगा होता है उसी के अन्दर नोट रखे जाते हैं तथा उसी के अधर पर हमें नोट मशीन से प्राप्त होते हैं|
जैसा की हम जानते हैं भारत बहुत अधिक आबादी वाला देश हैं और इस देश में छोटे नोट वाला एटीएम लगन बहुत ही मुस्किल काम है क्योंकि इन नोटों की वैल्यू कम होती है और इनकी संख्या बहुत अधिक होती है, जिसके कारन एटीएम में बहुत सारे बॉक्स लगाने पड़ेंगे और ऐसा करने के लिए काफी बड़ा एटीएम लगन होगा और उसकी सुरक्षा और तकनीक में भी परिवर्तन करना पड़ेगा जो सर्कार और बैंक दोनों के लिए ही काफी खर्चीली प्रक्रिया है|



4. हेलिकॉप्टर का माइलेज ( एवरेज ) कितना होता है?

GK Questions In Hindi
GK Questions In Hindi


हेलिकॉप्टर हवाई जहाज की तरह ही उढ़ता है लेकिन इसकी बनावट अलग होती है| हवाई जहाज उधने के लिए जेट इंजन का सहारा लेते हैं वहीँ हेलिकॉप्टर उधने के लिए पंखे नुमा ब्लेड का सहारा लेते हैं|
दोस्तों हम यह तो जानते ही हैं की हेलिकॉप्टर में हवाई जहाज की तुलना में इसकी कैपेसिटी और उधने की रफ़्तार बहुत कम होती है|
रोबिन्सन आर 44 हेलिकॉप्टर में दो टैंक होते हैं जो मुख्य टैंक होता है उसकी कैपेसिटी 120 लीटर होती है तथा दुसरे टैंक की कैपेसिटी 10 लीटर होती है, यह एक घंटे में 15 लीटर से 60 लीटर की खपत करता है साथ ही एक मील तक उधने के लिए इसे एक गैलन इंधन की जरुरत पड़ती है, इसका एवरेज निकलने के लिए अगर इस हेलिकॉप्टर की स्पीड एक घंटे में 180 किलोमीटर मान ली जाये तो यह हेलिकॉप्टर 1 लीटर में 3 से 4 किलोमीटर तक उड़ान भर सकता है| GK Questions In Hindi




5. भारत में 3 ब्लेड वाले पंखों का ही इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

GK Questions In Hindi
GK Questions In Hindi


GK Questions In Hindi गर्मियों के मौसम में सबसे ज्यादा रहत देने वाली चीज़ पंखा होता है, भारत में हर घर में पंखे मिल जाएँगे लिकिन क्या अपने कभी ये सोचा है की पंखों में हमेसा 3 ब्लेड का ही इस्मेतल क्यों किया जाता हा?
तो बात यह है की अमेरिका,रूस या ठन्डे देशों में लोग अपने घरों में 4 ब्लेड वाले पंखे का इस्तेमाल करते हैं क्योंकि वह के लोगों के पास एयर कंडीशनर होता है जिससे वे लोग पंखे का इस्तेमाल एसी के सुप्प्लिमेंट के रूप में करते हैं जिसका मकसद एसी की ठंडक को पूरे कमरे में फैलाना होता है|
वहीँ भारत में पंखों का इस्तेमाल ठंडी हवा के लिए किया जाता है, गर्मियों के मौसम में यह काफी आरामदायक होता है आपको यह भी बता दें की चार ब्लेड वाले पंखों की तुलना में तीन ब्लेड वाले पंखे काफी हल्के होते हैं और तेज़ चलते हैं|
इसलिए भारत में अधिकतर तीन ब्लेड वाले पंखों का इस्तेमाल किया जाता है, चार ब्लेड वाले पंखों की तुलना में तीन ब्लेड वाले पंखों में बिजली की खपत भी कम होती है और यह छोटे कमरे के प्रत्येक कोने तक हवा पहुचाते हैं तथा यह कम दाम में भी मिल जाते हैं|

Also Read






0 comments: