इंसान के होठों पर पसीना क्यों नहीं आता है? insan ke hotho par pasina kyo nahi ata hai?

इंसान के होठों पर पसीना क्यों नहीं आता है? insan ke hotho par pasina kyo nahi ata hai?

इंसान के होठों पर पसीना क्यों नहीं आता है? insan ke hotho par pasina kyo nahi ata hai?


दोस्तों होंठ हमारे शारीर का एक महत्वपूर्ण अंग हैं जो की हनारे चेहरे के आकर्षण को बढ़ा देते हैं और खास तौर पर लड़किओं के चेहरे पर अच्छे होंठ का होना उनकी सुन्दरता को और भी बढ़ा देता है।

दोस्तों होंठ का रंग हमारी त्वचा के रंग से बिलकुल ही अलग होता है क्योंकि उनमे बाकि त्वचा के मुकाबले चमड़ी की परत काफी कम होती है, इसलिए हमारे होंठ गुलाबी रंग के होते हैं।


दोस्तों ऐसा कहा जाता है की जब शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो हमारे होंठों पर इसका असर जल्दी ही दिखाई देने लगता है।

दोस्तों अपने अक्सर देखा होगा की हमारे होठों में कभी भी पसीना नहीं आता है, क्या आपको इसके पीछे का कारन पता है?


चलिए दोस्तों आज हम आपको बताते हैं, दरअसल ऐसा इसलिए होता है की हमारे होठों के स्थान पर पसीने को पैदा करने वाली ग्रंथियां या कहें मस्पेशियाँ नहीं होती हैं जिसकी वजह से हमारे होठों पर कभी पसीना नहीं आता है और हमारे होंठ दुसरे अंगों के मुकाबले बहुत जल्दी से सूख भी जाते हैं।

जैसे जैसे इंसान की उम्र बढ़ने लगती है उसके होंठ पहले से ज्यादा पतले होने लगते हैं और दोस्तों होंठों की एक खास बात यह भी है की जिस तरह इंसान के फिंगरप्रिंट किसी अन्य व्यक्ति से मेल नहीं खाते हैं ठीक उसी तरह होंठ के प्रिंट भी किसी से मैच नहीं होते हैं।



Also Read - यह भी पढ़ें




रोचक सवाल: ऑपरेशन में टांका लगाने के लिए किस धागे का प्रयोग किया जाता है? Which thread is used for soldering in operation?

Interesting question: Which thread is used for soldering in operation? ( रोचक सवाल: ऑपरेशन में टांका लगाने के लिए किस धागे का प्रयोग किया जाता है? )

Interesting question: Which thread is used for soldering in operation?



ऑपरेशन एक चिकित्सक उपचार होता है जिसमे एक सुई में अन्य किसी सामग्री का बना धागा डाला जाता है ताकि जीवों के ऊतकों को एक साथ कस कर बंधा जा सके।


इन टांकों का काम यह होता है की जीव के ऊतक प्राकृतिक क्रियाओं से धीरे-धीरे एक दुसरे से जुड़ सकें, इन टांकों के अंत में एकगाँठ बाँध दी जाती है।

जिस धागे का उपयोग ऑपरेशन के समय टंका लगाने के लिए डॉक्टर करते हैं उसे अक्सर भेंड या बकरियों की आंतों से बनाया जाता है कभी कभी इन्हें बनाने के लिए सूअर,घोड़ों तथा गधों की आँतों का भी प्रयोग किया जाता है और यह प्रदुषण भी नहीं फैलाता है।


दरशल कात्गार्ट द्वारा बने धागों का प्रयोग भीतरी चीर फाड़  को टांकने के लिए किया जाता है ताकि कुछ समय बाद यह अपने आप ही गल जाए।

दोस्तों हम आपको जानकारी के लिए बताये देते हैं की ऑपरेशन में दो तरह के धागों का इस्तेमाल टाँके लगाने के लिए किया जाता है, मसलन शारीर के अन्दर के हिस्से में जो टाँके लगाये जाते हैं उनमे ऐसे धागों का प्रयोग किया जाता है जो अपने आप ही निश्चित समय के बाद गल जाते हैं इससे मरीज को कोई परेशानी भी नहीं होती है वहीँ ऑपरेशन में शारीर की बहरी त्वचा पर जो तनके लगाये जाते हैं वो अपने आप नहीं गलते बल्कि उन्हें काटना पड़ता है।

यदि आपके दिमाग में भी ऐसा ही कोई रोचक सवाल हो तो हमें कमेंट में बताएं, हम आपके सवाल का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।


Also Read - यह भी पढ़ें



रोचक सवाल: हवाई जहाज के पायलट के पास कुल्हाड़ी क्यों होती है? Why does an airplane pilot have an axe?

Interesting question: Why does an airplane pilot have an axe? ( रोचक सवाल: हवाई जहाज के पायलट के पास कुल्हाड़ी क्यों होती है? )

Interesting question: Why does an airplane pilot have an axe?




दोस्तों क्या आपको पता है की हवाई जहाज के पायलट के पास हमेशा एक कुल्हाड़ी रहती है जिसे आपातकाल के समय काम में लाया जाता है। कई देशों में कानून के मुताबिक पायलट को उड़ान भरने से पहले यह सुनिश्चित कर लेना होता है की उन्होंने अपने हवाई जहाज के कॉकपिट में एक कुल्हाड़ी रख ली है या नहीं।

दोस्तों आम तौर पर पायलट के पास रहने वाली कुल्हाड़ी एक साधारण लकड़ी काटने वाली नहीं होती है बल्कि यह एक छोटा सा पोर्टेबल औजार होता है जिसे केवल हवाई जहाज के कॉकपिट में रखा जाता है ताकि जहाज में आग लग जाने पर या दरवाजा अटक जाने पर इसका इस्तेमाल किया जा सके।


दोस्तों इमरजेंसी एग्जिट बनाने के लिए भी इसी कुल्हाड़ी का इस्तेमाल किया जाता है।

यदि आपके दिमाग में भी ऐसा ही कोई रोचक सवाल हो तो हमें कमेंट में बताएं, हम आपके सवाल का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।



Also Read - (यह भी पढ़ें)






Paytm Payment Bank क्या है? Full Detail Information

What Is Paytm Payment Bank? Full Detail Information, paytm payment bank login, paytm payment bank branch, paytm payment bank ceo, paytm payment bank near me and paytm payment bank csp


What Is Paytm Payment Bank? Full Detail Information, paytm payment bank login, paytm payment bank branch, paytm payment bank ceo, paytm payment bank near me and paytm payment bank csp



What Is Paytm Payment Bank ? ( paytm पेमेन्ट बैंक क्या है? )


Paytm एक प्रकार का Payment Bank  है। RBI के द्वारा 11 कंपनियों को Payment Service Bank की मंजूरी दी गयी है जिसमे से एक Paytm Bank भी है। साधारण बैंक की तरह Paytm Payment Bank भी पैसे जमा कर सकती है लेकिन इसकी सीमा निर्धारित है Paytm Payment Bank एक ग्राहक से 1 लाख रुपये तक की धनराशी जमा करवा सकता है। Paytm Payment Bank अपने ग्राहकों को Saving Account और Current Account दोनों ही प्रकार के Accounts की सुविधा देती है। RBI के नियमों के अनुसार Paytm Payment Bank एटीएम और Debit Card सेवा दे सकती हैं लेकिन Credit Card जारी करने का अधिकार उनके पास नहीं होता है।
Paytm Payment Bank, NRI लोगों से Deposite नहीं ले सकता तथा paytm app में किसी तरह का बदलाव नहीं हो सकता तथा app के जरिये आप टैक्सी ,फ्यूल ,फ़ूड और अन्य चीजों के लिए पेमेंट भी कर सकते हैं।
यदि आप Paytm Payment Bank में Account का विकल्प चुनते हैं तो आपको Bank Account Number,चेक बुक,डेबिट कार्ड और अन्य चीज़े दी जा सकती हैं अन्यथा आपका paytm wallet पहले की तरह से ही काम करता रहेगा। Paytm Payment Bank आपको अलग से एक अकाउंट खोलने का विकल्प भी देती है यदि आप Paytm Payment Bank में अपना अकाउंट खोलते हैं तो आपको जमा राशी पर आपको इंटरेस्ट भी मिलेगा तथा Paytm Payment Bank आपको प्रतिमाह 5 निशुल्क ATM Transactions की पेशकश भी करता है उसके बाद आपको प्रति एटीएम लेनदेन पर 20 रुपये शुल्क चुकाने होंगे।




How To Login Paytm Payment Bank ? ( पेटीएम पेमेन्ट बैंक में लॉग इन कैसे करें? )

What Is Paytm Payment Bank? Full Detail Information, paytm payment bank login, paytm payment bank branch, paytm payment bank ceo, paytm payment bank near me and paytm payment bank csp


Paytm Payment Bank में login करना बहुत ही आसान है। Paytm Payment Bank ने अपने customers के लिए दो तरह से Paytm Payment Bank में login करने की सुविधाए दी हैं। एक या तो आप सीधा अपने वेब ब्राउज़र में जाकर अपने Paytm Payment Bank में login कर सकते हैं या फिर आप Paytm App की मदद से login कर सकते हैं।
इस पोस्ट में हम आपको Paytm Payment Bank में login करने के दोनों ही तरीके बताएँगे।




Paytm Payment Bank Login From Web Browser ( वेब ब्राउज़र के माध्यम से लॉग इन करना )


1. Paytm.com पर जायें।
2. स्क्रीन के उपरी कोने पर Login/Signup के बटन पर क्लिक करें।
3. अपना Registered Mobile Number/Email Address और Password डालें।
4. इसके बाद "Secure Login" के बटन पर क्लिक करें।
5. इतना करने के बाद आपको आपके Registered Mobile Number पर एक OTP Message भेज दिया जायेगा।
6. OTP को टाइप करके Varify बटन पर क्लिक करें।

इन Steps को Follow करने के बाद आप अपने Paytm Payment Bank Account में Login हो जाएँगे।



Paytm Payment Bank Login From Paytm App ( App के माध्यम से लॉग इन करना )


1. अपने Paytm App को अपने smartphone में open करें।
2. App के उपरी कोने पर Profile Icon पर क्लिक करें।
3. इसके बाद Login To Paytm पर क्लिक करें।
4. अपना Registered Mobile Number/Email Address और Password डालें।
5. Login Securely बटन पर क्लिक करें।
6. यदि आपको आपके Registered Mobile Number पर OTP भेजा जाये तो आप उसे भर कर अपने Paytm Payment Bank Account में Login हो जाएँगे।



How To Know Paytm Payment Bank Branch Near Me ? ( अपने नजदीकी पेटीएम पेमेंट बैंक की शाखा के बारे में कैसे जाने )


Paytm Payment Bank Branch Near Me के बारे में जानने से पहले यह भी जान लीजिये की paytm bank अन्य बैंकों की तरह ही है तथा इस बैंक की भी दुसरे बैंकों की तरह Paytm Payment Bank Branch हैं हालाँकि यह बड़े शहरों में मिल जाएँगी।
Paytm Payment Bank Branch Near Me के बारे में जानने के लिए आपको अपने राज्य का नाम, जिले का नाम भरना होगा, यदि वहां कोई भी Paytm Payment Bank Branch होगी तो आपको उस ब्रांच का नाम पता चल जाएगा।






आओ जानें Paytm Payment bank के ceo कौन हैं?


पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने अनुभवी बैंकर सतीश कुमार गुप्ता को प्रबंध निदेशक और सीईओ नियुक्त किया है। आपको यह भी बता दें की सतीश कुमार गुप्ता पहले भारतीय स्टेट बैंक में पूर्व उप महाप्रबंधक थे जहां उन्होंने तीन दशकों से अधिक काम किया। इसके बाद वह नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया में मुख्य परियोजना अधिकारी बने, जो यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस जैसे भुगतान उत्पादों का प्रबंधन करता है।
हालाँकि आपको शायद यह पता होगा की paytm के founder  विजय शेखर शर्मा एक भारतीय अरबपति व्यापारी हैं। जो की मोबाइल भुगतान कंपनी पेटीएम के संस्थापक हैं।




Paytm Payment Bank csp क्या है?


CSP का मतलब होता है “Customer Service Point” जिसे हम सरल भाषा में बैंक मित्र Bank Mitra भी कहते हैं। दोस्तों आपको यह भी बता दें की बैंक मित्र एक कांसेप्ट है जिसे PPP ( Public Private Partnership ) के अंतर्गत बनाया गया है। एक बैंक मित्र या सीएसपी बैंक के प्रतिनिधि या एजेंट के रूप में काम करता है और नागरिकों को बैंकिंग सेवा प्रदान करने के लिए नियुक्त किया जाता है।





Also Read - यह भी पढ़ें

इंसान का दिमाग कितने GB का हो सकता है? Human brain storage in gb

इंसान का दिमाग कितने GB का हो सकता है? Human brain storage in gb


इंसान का दिमाग कितने GB का हो सकता है? Human brain storage in gb
Human brain storage in gb




आपको यह तो पता ही होगा की प्रकृति ने इंसान को सबसे तेज़ दिमाग दिया है जिससे वह हर चीज़ को आसानी से याद रखने के साथ साथ सोचने की भी ताकत रखता है।

लेकिन दिमाग की कई सारी ऐसी जटिल प्रक्रियाएं होती हैं, जिनके बारे में कोई भी वैज्ञानिक आज तक पता नहीं लगा पाया है। इसकी एक वजह यह भी है की इंसान का दिमाग एक साथ कई सारे कार्य एकसाथ करता है जिसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते।


आपको पता है इंसान के चेहरे पर हाव- भाव लाने का काम भी दिमाग ही करता है जिसे आम भाषा में फीलिंग्स भी कहा जाता है, जब भी आप खुश होते हैं तो आपका दिमाग आपके चेहरे पर एक अलग तरह का भाव उत्पन्न करता है जिसे देख कर इस बात का पता लगाया जा सकता है की इंसान का मूड कैसा है।
लेकिन दोस्तों क्या अपने कभी यह सोचा है की इंसान के दिमाग की मेमोरी कितनी होती है या फिर एक स्मार्टफोन की तरह कितने GB का डाटा इसमें स्टोर किया जा सकता है?

तो आपको हम बता देते हैं की इंसान के दिमाग की मेमोरी अनलिमिटेड यानि असीमित होती है, लेकिन एक आम इंसान अपने दिमाग की केवल 512 mb मेमोरी का ही इस्तेमाल अपने पूरे जीवन काल में कर पता है।
हालाँकि IAS अधिकारी तथा डॉक्टर्स 1 gb तथा कुछ महान वैज्ञानिक सिर्फ 5 gb तक इस्तेमाल करते हैं लेकिन अगर हम कुल मेमोरी की बात करे तो इंसान अपनी जिंदगी में करीब 2 लाख gb डाटा का इस्तेमाल कर सकता है लेकिन दुःख की बात ये है की इंसान अपने दिमाग को गलत जगह पर लगता है जिसकी वजह से उसकी मेमोरी में कई तरह के विकार उत्पन्न हो जाते हैं ,जिससे इंसान की दिमागी मेमोरी कम हो जाती है।



Do not hesitate to share "Indradhanush Ke 20 Anokhe Rochak Tathya" article with everyone and leave a Like on our Facebook page!


Also Read - यह भी पढ़ें