इंसान का दिमाग कितने GB का हो सकता है? Human brain storage in gb

इंसान का दिमाग कितने GB का हो सकता है? Human brain storage in gb


इंसान का दिमाग कितने GB का हो सकता है? Human brain storage in gb
Human brain storage in gb




आपको यह तो पता ही होगा की प्रकृति ने इंसान को सबसे तेज़ दिमाग दिया है जिससे वह हर चीज़ को आसानी से याद रखने के साथ साथ सोचने की भी ताकत रखता है।

लेकिन दिमाग की कई सारी ऐसी जटिल प्रक्रियाएं होती हैं, जिनके बारे में कोई भी वैज्ञानिक आज तक पता नहीं लगा पाया है। इसकी एक वजह यह भी है की इंसान का दिमाग एक साथ कई सारे कार्य एकसाथ करता है जिसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते।


आपको पता है इंसान के चेहरे पर हाव- भाव लाने का काम भी दिमाग ही करता है जिसे आम भाषा में फीलिंग्स भी कहा जाता है, जब भी आप खुश होते हैं तो आपका दिमाग आपके चेहरे पर एक अलग तरह का भाव उत्पन्न करता है जिसे देख कर इस बात का पता लगाया जा सकता है की इंसान का मूड कैसा है।
लेकिन दोस्तों क्या अपने कभी यह सोचा है की इंसान के दिमाग की मेमोरी कितनी होती है या फिर एक स्मार्टफोन की तरह कितने GB का डाटा इसमें स्टोर किया जा सकता है?

तो आपको हम बता देते हैं की इंसान के दिमाग की मेमोरी अनलिमिटेड यानि असीमित होती है, लेकिन एक आम इंसान अपने दिमाग की केवल 512 mb मेमोरी का ही इस्तेमाल अपने पूरे जीवन काल में कर पता है।
हालाँकि IAS अधिकारी तथा डॉक्टर्स 1 gb तथा कुछ महान वैज्ञानिक सिर्फ 5 gb तक इस्तेमाल करते हैं लेकिन अगर हम कुल मेमोरी की बात करे तो इंसान अपनी जिंदगी में करीब 2 लाख gb डाटा का इस्तेमाल कर सकता है लेकिन दुःख की बात ये है की इंसान अपने दिमाग को गलत जगह पर लगता है जिसकी वजह से उसकी मेमोरी में कई तरह के विकार उत्पन्न हो जाते हैं ,जिससे इंसान की दिमागी मेमोरी कम हो जाती है।



Do not hesitate to share "Indradhanush Ke 20 Anokhe Rochak Tathya" article with everyone and leave a Like on our Facebook page!


Also Read - यह भी पढ़ें





0 comments: