Posts

Showing posts from 2020

आंद्रे रसेल के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए किस्मत भी चाहिए इस भारतीय क्रिकेटर ने की आंद्रे रसेल की तारीफ पढे पूरी खबर।

Image
किसी भी तेज गेंदबाज के लिए नई गेंद से और डेथ ओवरों में गेंदबाजी करना आसान नहीं होता। पिछले कुछ सालों में भुवनेश्वर कुमार ने स्टीव स्मिथ, डेविड वॉर्नर, केन विलियमसन, जो रूट और क्रिस गेल जैसे बल्लेबाजों के सामने गेंदबाजी की है। कई बार वह विजेता के रूप में भी सामने आए। कभी अपनी योजना से, कभी विविधता से, सभी परफेक्ट यॉर्कर से और कभी न्कल बॉल से। लेकिन कुछ बल्लेबाज ऐसे भी रहे हैं, जिनकी तारीफ खुद भुवनेश्वर कुमार भी करते हैं। ऐसे ही बल्लेबाज हैं- आंद्रे रसेल। वेस्टइंडीज के ऑल राउंडर आंद्रे रसेल की तारीफ करते हुए भारतीय पेसर ने कहा कि रसेल उनके मिसहिट भी छक्के के लिए जाते हैं।

भुवनेश्वर कुमार ने कहा, ''आंद्रे रसेल बहुत ताकतवर बल्लेबाज हैं, उनके मिसहिट भी छ्क्के पर जाते हैं। हमने पिछले आईपीएल में यह देखा है। जब आप उनके खिलाफ गेंदबाजी करते हैं तो भाग्य भी अहमियत रखता है।''

बातचीत में भुवनेश्वर कुमार ने कहा, ''सबसे ज्यादा यह मैटर करता है कि आप कहां खेल रहे हैं। मैदान के आयाम और सीमा भी अहम होती है। आप आमतौर पर मैदान से वाकिफ होते हैं, आप जानते हैं कि आपको कहां गेंद फेंक…

दसवीं और बारहवी के परिणाम घोषित, परिणाम देखे व पढे पूरी खबर...

Image
*लखनऊ से अपडेट*



*यूपी बोर्ड परीक्षा का परिणाम घोषित*

*यूपी बोर्ड की 10वीं,12वीं के नतीजे घोषित*

*हाईस्कूल- इंटरमीडिएट के नतीजे घोषित*

डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने रिजल्ट घोषित किया

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने ऐलान किया

*बोर्ड परीक्षा में फिर लड़कियों बाजी मारी*

बोर्ड परीक्षा की 10वीं का 83.31% रिजल्ट

10वीं की परीक्षा में 83.31% छात्र पास हुए

हाईस्कूल की परीक्षा में लड़कियों बाजी मारी

10वीं में 23 लाख 982 छात्र पास हुए

10वीं की परीक्षा में 87.29% छात्राएं पास

10वीं की परीक्षा में 79.88% छात्र पास

बोर्ड परीक्षा की 12वीं का 74.63% रिजल्ट

12वीं की परीक्षा में 74.63% छात्र पास

12वीं की परीक्षा में 81.96% छात्राएं पास

इंटरमीडिएट में 68.88% छात्र पास हुए

इंटरमीडिएट में भी लड़कियों ने बाजी मारी

छात्रों के मुकाबले छात्राएं ज्यादा पास हुईं

10वीं में बागपत की रिया जैन ने टॉप किया

बागपत के बड़ौत की रिया जैन ने टॉप किया

10वीं में रिया ने 96.67 अंक पाकर टॉप किया

हाईस्कूल के अभिमन्यू वर्मा सेकेंड टॉपर बने

95.83% अंक पाकर अभिमन्यू दूसरे स्थान पर

10वीं में तीसरे स्थान पर योगेश प्रताप सिंह

योगेश 95.3…

LAC पर तनाव के बीच बड़ी खबर चीन की तानाशाही पर लगेगा ब्रेक, एशिया में तैनात होगी अमेरिकी सेना

Image
चीन की एशिया में बढ़ती तानाशाही के खिलाफ अमेरिका ने यूरोप से अपनी सेना हटाकर एशिया में तैनात करने का फैसला किया है. अमेरिकी विदेश मंत्री ने ये ऐलान किया है. अमेरिका यह कदम ऐसे समय उठा रहा है कि जब चीन ने भारत में पूर्वी लद्दाख में एलएसी के पास युद्ध जैसे हालात पैदा कर दिए हैं , तो दूसरी ओर वियतनाम, इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलिपींस और साउथ चाइना सी में खतरा बना हुआ है.



लाइव मिंट की खबर के मुताबिक, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने कहा है कि भारत और दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों के लिए खतरा उत्पन्न कर रहे चीन के कारण उनका देश यूरोप से अपनी सेनाएं कम करके अन्य जगहों पर तैनात कर रहा है. पोंपियो ने ब्रसेल्स फोरम में जर्मन मार्शल फंड के अपने एक वर्चुअल संबोधन के दौरान एक सवाल के जवाब में यह बात कही.

अमेरिकी विदेश मंत्री की यह टिप्पणी भारत और चीन के बीच जारी तनाव के संदर्भ में बेहद अहम है. गौरतलब है कि एक ओर चीन ने भारत में एलएसी के पास तनावपूर्ण स्थिति को हवा दे रखा है, तो दूसरी ओर साउथ चाइना सी में भी आक्रामक रवैया अपना रहा है. कोरोना वायरस को लेकर भी दुनिया के सामने कड़े तेवर अपना रहा है. 15…

बातचीत से मामला नहीं निबटा तो...चीन को जवाब देने में भारत सक्षम जाने पूरी खबर

Image
ऐसी खबर है कि बैठक में भारत की ओर से चीन को साफ कह दिया गया है कि सीमा पर पूर्व की स्थिति बहाल होनी चाहिए. चीन भी इसके लिए तैयार है



भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद तनाव चरम पर है. वास्तविक नियंत्रण रेखा पर दोनों देश की सेना आमने-सामने है.
दोनों देशों के बीच तनाव और भारत की भावी रणनीति को लेकर लेफ्टिनेंट जनरल रामेश्वर रॉय (रिटायर्ड) से प्रभात खबर के राष्ट्रीय ब्यूरो प्रमुख अंजनी कुमार सिंह की बातचीत के प्रमुख अंश :

1. क्या भारत को चीन के प्रति अपनी राजनीतिक, आर्थिक और सैन्य गतिविधियों में बदलाव करना चाहिए?
भारत की नीति सही है. अभी जो स्टेटस है, उसे बरकरार रखने की जरूरत है. चीन उस स्टेटस को बलपूर्वक खत्म करने की कोशिश करता है, तो हमारी सेना जवाब देने को तैयार है. हमारी प्राथमिकता अभी वहां डटे रहने की है और चीन को वहां से एक कदम भी आगे बढ़ने न दें, इस पर भी है. इसके लिए चीन जैसा वर्ताव करेगा, उसको उसी की भाषा मे जवाब दिया जायेगा.

2. चीन को जवाब देने के लिए क्या हमारी तैयारी पूरी है?
जहां तक हमारी तैयारी की बात है, तो हम वहां पर और क्या कर सकते हैं और हमारी तैयारी क्य…

भारतीय रेलवे, रेल के अन्दर फिल्मों की शूटिंग के लिए लेती है इतने रूपये? जानकर चौंक जाओगे

Image
भारतीय रेलवे, रेल के अन्दर फिल्मों की शूटिंग के लिए लेती है इतने रूपये? जानकर चौंक जाओगे
बॉलीवुड फिल्मों की ट्रेनों में शूटिंग से रेलवे को अच्छी खासी आमदनी प्राप्त होती है। आपने गदर, रंग दे बसंती, भाग मिल्खा भाग आदि फिल्मों में ट्रेनों में शूटिंग होते हुए देखा होगा।

खास बात यह है कि भारतीय रेलवे ने इसमें रेवाड़ी स्टीम लोको शेड का उपयोग किया है। इसी कारण इसे हेरिटेज के तौर पर संभाल के रखा गया है। अगर किसी फिल्म की शूटिंग में एक इंजन और 4 बोगियों की डिमांड हो तो रेलवे 1 दिन के लिए करीब Rs500000 लेता है। वही कुछ दिन पहले भारतीय रेलवे ने फिल्मों की शूटिंग में इस्तेमाल होने वाले रेलवे परिसर और मालगाड़ी के लाइसेंस दर में भी बढ़ोतरी करी है।

यहां तक कि अगर किसी ट्रेन या रेलवे परिसर में फिल्म की शूटिंग हो रही है तो उस हिसाब से रेट भी तक किये थे । जिसमें एक और ए वन केटेगरी वाले स्टेशनों के लिए लाइसेंस फीस प्रतिदिन Rs100000 की दर से देने की तय की गई थी ।इसके अलावा बी वन और बी टु कैटगरी के स्टेशनों के लिए Rs50000 प्रतिदिन अदा करना होता है । इसके अलावा अगर बिजी सीजन में इसका उपयोग किया जाता है तो 15% अ…

क्या उम्रकैद की सजा 14 साल होती है और इसमे दिन और रात गिने जाते हैं?

Image
क्या उम्रकैद की सजा 14 साल होती है और इसमे दिन और रात गिने जाते हैं?


क्या उम्रकैद की सजा मे दोषी को सिर्फ 14 या 20 साल जेल की सजा होती है? क्या इसमे दिन और रात के हिसाब से दिन गिने जाते हैं? वास्तव मे उम्रक़ैद की सजा पाने वाले दोषी को कब तक जेल मे रहना पड़ता है?

इन सभी सवालों के जवाब आपको आज हम देंगे, दोस्तों सबसे पहले यह जानकारी दुरुस्त कर लें की 14 साल या 20 साल जैसा कोई नियम नही है। उम्रक़ैद का मतलब आजीवन कारावास ही होता है।

उम्रक़ैद की सजा यानि एक अपराधी को पूरी जिंदगी जेल मे ही रहना होता है, भारत के सुप्रीम कोर्ट ने भी इस सजा को लेकर स्पष्टीकरण दे दिया था की उम्रक़ैद का मतलब क्या है। उम्रक़ैद का मतलब अपराधी को जीवनभर जेल मे ही रहना होगा। यह भी साफ किया की दिन-रात को दो अलग-अलग दिन के रूप मे नहीं, बल्कि एक दिन के रूप मे ही गिना जाएगा।


दोस्तों अब सवाल यह है की आखिर उम्रक़ैद के लिए 14 साल की सजा की बात क्यों काही जाती है? इसकी एक वजह है। ऐसा क्रिमिनल प्रोसीजर कोड के एक प्रोविज़न की वजह से है जिसमे 14 साल की लिमिट का जिक्र किया जाता है। इस प्रोविज़न के अनुसार जब अपराधी 14 साल की सजा काट लेता है…

रेल इंजन मे AC क्यों नहीं होता है?

Image
रेल इंजन मे AC क्यों नहीं होता है?



रेल के इंजन मे पायलट के लिए ज्यादा अच्छी व्यवस्था नहीं होती है, बस इतनी होती है की आराम से ट्रेन चला पाएँ और एक पंखा लगा दिया जाता है और कई इंजन मे वो पंखा भी काम नहीं करता है। लोको मे ढंग से बैठने की भी व्यवस्था नहीं होती है। एक ही पोजीशन पर लोको पायलट को कई -कई घंटे बैठा रहना पड़ता है और अगर कहीं गर्मी का मौसम हुआ तो हालात और बदतर हो जाते हैं। इंजन की गर्मी ऊपर से सूर्य देवता दोनों मिलकर लोको पायलट का जीना बेहाल कर देते हैं।


दोस्तों भारत मे 90% इंजन बिना AC के हैं। अब नव निर्मित इंजन ही AC से लैस हैं। वरना अधिकतम बस काम चलाऊ हैं, यदि आप कभी अंदर जाएंगे तो इंजन की संरचना देख कर ही समझ जाएंगे की पुराने इंजन AC के अनुकूल बनाए ही नहीं गए थे। खैर अब आ रहे नए इलेक्ट्रिक इंजन मे AC भी आने लगा है। सरकार अब लोको पायलट का भी सोचने लगी है।

Also Read - ( यह भी पढ़ें )


दुनियां के 10 सबसे छोटे देशमाउंट एवेरेस्ट से जुड़े 10 रोचक तथ्य जिन्हें आपको जानना चाहिएदुनिया की 10 सबसे ख़राब और खतरनाक जेलपृथ्वी पर 10 सबसे खतरनाक जानवर जिन्हें जानकर आपकी सारी गलतफहमियां दूर हो जाएं…

हाथी के दाँत इतने कीमती क्यों होते हैं?

Image
हाथी के दाँत इतने कीमती क्यों होते हैं?



हाथी दाँत या गजदंत हाथी के उन दो दांतों को कहते हैं जो हाथी के मुंह से बाहर निकले रहते हैं और बहुमूल्य माने जाते हैं। पुराने समय मे इनसे कई प्रकार की बहुमूल्य वस्तुएँ निर्मित की जाती थी, यहाँ तक की मनुष्य के नकली दाँत भी इनसे बनते थे। हाथी दाँत के कई सजावटी और व्यावहारिक उपयोग हैं।


इनमे हाथ मे पहनने की चूड़ियाँ, कंगन, गहने रखने के बक्से आदि शामिल हैं। दोस्तों प्लास्टिक के ईजाद होने से पहले, यह बिलियर्ड् गेंदों, पियानो चाबियों, स्कॉटिश बैगपाइपर (वाघयन्त्र), बटन और विस्तरत सजावटी समान के लिए इस्तेमाल किया जाता था।

Also Read - ( यह भी पढ़ें )


दुनियां के 10 सबसे छोटे देशमाउंट एवेरेस्ट से जुड़े 10 रोचक तथ्य जिन्हें आपको जानना चाहिएदुनिया की 10 सबसे ख़राब और खतरनाक जेलपृथ्वी पर 10 सबसे खतरनाक जानवर जिन्हें जानकर आपकी सारी गलतफहमियां दूर हो जाएंगीदुनिया भर के टॉप 10 विचित्र रस्मो रिवाजधरती पर पाए गए 10 अविश्वसनीय वस्तुएं हैं जिनके बारे में कोई नहीं जानता है की यह क्या हैं और कहाँ से आये हैं।दुनिया के टॉप 10 सबसे विचित्र और हैरान कर देने वाले गिनीज वर्ल्ड रिक…

किन्नर ताली क्यो बजाते हैं?

Image
किन्नर ताली क्यो बजाते हैं?



ताली की खास आवाज और उसे बजाने के तरीके से एक किन्नर, दूसरे की पहचान कर लेता है। अक्सर किन्नर स्त्रियॉं के कपड़ों मे होते हैं लेकिन कई बार वे पुरुषों की पोशाक मे भी होते हैं। ऐसे मे अपनी बिरादरी के लोगों से घुलने-मिलने के लिए उन्हें ताली बजाकर अपने असल होने का सबूत देना होता है।

दोस्तों वैसे तो किन्नर शादी-ब्याह या जन्मोत्सव जैसे मौकों पर ही अचानक घर पहुँच जाते हैं और ताली बजाकर खुशी का इजहार करते हैं लेकिन अपने समुदाय मे वे ताली के जरिये भी भावनाएँ जाहीर करते हैं। गुस्सा होने या खुशी मे वे बात करते हुए ताली बजाते जाते हैं।


दोस्तों किन्नरों के ताली बजने का अपना अलग ही तरीका होता है। आम ताली मे दोनों हाथ वर्टिकल या हॉरिजॉन्टल होते हैं और उँगलियाँ आपस मे लगभग जुड़ी होती हैं। वहीं किन्नर जब ताली बजते हैं तो एक हाथ वर्टिकल और एक हॉरिजॉन्टल तरीके से आपस मे जुड़ता है और उँगलियाँ एकदम दूर-दूर होती हैं। इस ताली से खास तरह की आवाज निकलती है जो काफी ऊंची होती है।


Also Read - ( यह भी पढ़ें )


दुनियां के 10 सबसे छोटे देशमाउंट एवेरेस्ट से जुड़े 10 रोचक तथ्य जिन्हें आपको जानना चाहिए

मच्छर काली चीजों के ऊपर क्यो मंडराते हैं?

Image
मच्छर काली चीजों के ऊपर क्यो मंडराते हैं?


दोस्तों यदि आपने मच्छर की सामनी प्रवत्ति पर ध्यान दिया हो तो वह दिन के समय मे उन अंधेरे की तरफ जाता है, जहां प्रकाश कम हो और वहाँ बैठकर छिप जाता है लेकिन रात होने पर जब सभी जगह प्रकाश कम हो जाता है , लाइट बंद होने पर यह मच्छर बाहर निकाल आते हैं।

दोस्तों मच्छर अंधेरे मे आपके शरीर की गर्मी अच्छे से देख पाते हैं और उन नसों पर बैठकर आपके खून को चूसते हैं जो उन्हे उनकी थर्मल इमेजिंग से दिखाई दे रही होती हैं। मच्छर को तेज प्रकाश मे आपका शरीर दिखाई नहीं देगा। क्योंकि उसकी थर्मल इमेजिंग उस तेज प्रकाश मे आपके शरीर को उसे देखने ही नहीं देगी इसलिए मच्छर अंधेरे की तरफ घगता है।


दोस्तों जब किसी काली चीज़ कर प्रकाश पड़ता है तो वह काली चीज़ उस प्रकाश को अवशोषित कर लेती है और परावर्तित नहीं होने देती है। मच्छर के लिए वह एक अंधेरी जगह की तरह से दिखाई देती है और मच्छर किसी भी काली चीज़ को अंधेरा समझकर उसी के आस-पास मंडराता रहता है।

Also Read - ( यह भी पढ़ें )


दुनियां के 10 सबसे छोटे देशमाउंट एवेरेस्ट से जुड़े 10 रोचक तथ्य जिन्हें आपको जानना चाहिएदुनिया की 10 सबसे ख़राब और …

अमेरिका के झंडे में इतने तारे क्यों हैं?

Image
अमेरिका के झंडे में इतने तारे क्यों हैं?



दोस्तों हर अमेरिकी के लिए उनका ध्वज केवल एक साधारण ध्वज नहीं है बल्कि राष्ट्र का सार्वभौमिक प्रतीक है, दोस्तों इस सार्वभौमिक प्रतीक मे 50 तारे और 13 लाल पट्टियाँ हैं। अमेरिका का आधिकारिक प्रतीक ध्वज एक आयताकार कैनवास है जिस पर 13 लाल पट्टियों के साथ 13 सफ़ेद पट्टियाँ भी हैं जो क्षैतिज और वैकल्पिक तरीके से चित्रित की गयी हैं।


दोस्तों ये लाल और सफ़ेद पट्टियाँ कॉलोनियों और शांति का प्रतीक हैं। लाल रंग की 13 पट्टियाँ उन आरिजिनल 13 कॉलोनियों को दर्शाती है, जो ब्रिटिश राज से अलग हुई और उन्हीं से अमेरिका का गठन हुआ था। सफ़ेद पट्टियाँ नैतिक सिद्धांतों का प्रतीक हैं जिस पर संयुक्त राज्य की स्थापना हुई थी।


Also Read - ( यह भी पढ़ें )


दुनियां के 10 सबसे छोटे देशमाउंट एवेरेस्ट से जुड़े 10 रोचक तथ्य जिन्हें आपको जानना चाहिएदुनिया की 10 सबसे ख़राब और खतरनाक जेलपृथ्वी पर 10 सबसे खतरनाक जानवर जिन्हें जानकर आपकी सारी गलतफहमियां दूर हो जाएंगीदुनिया भर के टॉप 10 विचित्र रस्मो रिवाजधरती पर पाए गए 10 अविश्वसनीय वस्तुएं हैं जिनके बारे में कोई नहीं जानता है की यह क्या हैं और …

जानिए कैसे होता है कोरोना वाइरस से पीड़ित मरीज का इलाज, चीन के बाद मचाया इन बड़े देशों मे हाहाकार

Image
जानिए कैसे होता है कोरोना वाइरस से पीड़ित मरीज का इलाज, चीन के बाद मचाया इन बड़े देशों मे हाहाकार

कोरोना वायरस के केस लगातार बढ़ रहे हैं, कोरोना वायरस का इलाज नहीं है, लेकिन भारत मे इसके मरीज लगातार ठीक हो रहे हैं। कोरोना वायरस अब इन्सानों से इन्सानों मे फैलने लगा है, यानि सबसे बड़ी चुनौती यही है की इसे फैलने से कैसे रोका जाए?


दोस्तों अभी कोरोना वायरस का टीका नहीं बना है। दुनिया भर के वैज्ञानिक इसके लिए कोशिश कर रहे हैं। कुछ कंपनी ने दवा बना लेने का दावा किया है, लेकिन अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हुई है।
दोस्तों अभी कोरोना के मरीज अपने आप ठीक हो रहे हैं। अब तक जो इलाज किया जा रहा है वो सिर्फ इसके लक्षणों का ही है, जैसे बुखार के लिए पेरासिटामोल दी जा रही है, सर्दी जुकाम के लिए दवाएं दी जा रही हैं। आराम करने की सलाह दी जा रही है। 14 दिन तक यह प्रक्रिया दोहराई गई है, इसके बाद एक बार फिर टेस्ट किया गाया, नेगेटिव पाये जाने पर 24 घंटे बाद फिर टेस्ट हुआ और यह भी अगर नेगेटिव रहा तो यह मान लिया जाएगा की मरीज पूरी तरह ठीक हो गया है।


इस घटक महामारी से कैसे खुद को सुरक्षित रखा जा सकता है?

कोरोना के खिलाफ सबस…

कितना शक्तिशाली है प्रधानमंत्री मोदी को पासपोर्ट और क्यों पड़ती है इसकी आवश्यकता?

Image
कितना शक्तिशाली है प्रधानमंत्री मोदी को पासपोर्ट और क्यों पड़ती है इसकी आवश्यकता?

मोदी जी भारत के डिप्लोमेटिक पासपोर्ट पर दूसरे देशों की यात्रा करते हैं। हालांकि उनको वीसा की जरूरत नहीं पड़ती है, इसके लिए उनको पासपोर्ट का शुल्क भुगतान भी नहीं करना पड़ता है।


तो दोस्तों आपके दिमाग मे एक सवाल जरूर आया होगा आखिर इस दुनिया मे ऐसा कौन है जिसको किसी भी देश मे यात्रा करने के लिए पासपोर्ट की आवश्यकता नहीं होती है?

आइये हम आपके इस प्रश्न का उत्तर दिये देते हैं, इस दुनिया मे केवल एक ही व्यक्ति है जो बिना पासपोर्ट के दूसरे देशों मे कानूनी रूप से यात्रा कर सकती हैं- क्वीन एलिज़ाबेथ, इंग्लैंड की महारानी।


दोस्तों अब अपने मूल प्रश्न की ओर आते हैं, श्री मोदी के पास एक राजनयिक पासपोर्ट है जो लाल रंग का है। यह उन्हे विभिन्न देशों के हवाई अड्डों मे विशेष मंजूरी देता है। इस पासपोर्ट मे विशेष शक्तियाँ हैं जैसे कोई भी देश प्रधानमंत्री को देश मे प्रवेश करने से रोक नहीं सकता है और यहाँ तक की राजनयिक पासपोर्ट वाले किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया जा सकता है।

Also Read - ( यह भी पढ़ें )


दुनियां के 10 सबसे छोटे देशमाउंट एवेरे…

भारत का कोड +91 ही क्यों है? वजह आपको हैरान कर देगी

Image
भारत का कोड +91 ही क्यों है? वजह आपको हैरान कर देगी


दोस्तों, आज के समय मे मोबाइल और इंटरनेट का इस्तेमाल बहुत ज्यादा किया जाने लगा है। पिछले 2-3 साल मे भारत मे जैसे इंटरनेट की क्रांति आ गयी है। लेकिन क्या आप ये जानते हैं की +91 कोड ही भारत का कोड क्यों है?


तो आइये दोस्तों हम आपको बताते हैं की +91 ही भारत का कोड क्यो है। दोस्तों ऐसा इसलिए है क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय टेलीकम्यूनिकेशन यूनियन हर राष्ट्र को एक कोड़े देता है और राष्ट्र को उस क्षेत्र के अनुसार कोड दिया जाता है जिस क्षेत्र मे वे आते हैं। भारत को कोड +91 दिया गया है क्योंकि भारत जोन 9 मे आता है, जोन 9 मे केंद्रीय, पश्चिमी और दक्षिण एशियाई देश आते हैं। जिसमे ज़्यादातर मध्य पूर्व साथ ही कुछ अंतर्राष्ट्रीय सेवा कोड भी शामिल हैं।


Also Read - यह भी पढ़ें

दुनिया के टॉप 5 सबसे खुबसूरत किन्तु अत्यंत विचित्र फूलपृथ्वी पर मौजूद टॉप 5 सबसे विचित्र झरने, क्या आपने कभी ऐसा नजारा देखा है?यकीन मानिए ये पौधे जानवरों को अपने जाल में फंसाकर खा जाते हैं, मांसाहारी पौधेदुनिया के टॉप 10 सबसे विचित्र और हैरान कर देने वाले गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्सधरती पर पाए गए …

मुकेश अंबानी कौन-सा फोन और सिम इस्तेमाल करते हैं?

Image
मुकेश अंबानी कौन-सा फोन और सिम इस्तेमाल करते हैं?


मुकेश अंबानी के मोबाइल सिमकार्ड और मोबाइल पर। मुकेश अंबानी ने कुछ समय पहले दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि वह अब जियो सिम यूज करते हैं। मुकेश को पुराना नेटवर्क बदलकर उन्हें जियो की सलाह उनकी बेटी ने दी थी। वह जियो सिम के पहले एयरटेल की सिम यूज करते थे।


मुकेश अंबानी के पास ब्लैकेबेरी और एचटीसी का मोबाइल है। वह इन मोबाइल पर्सनल कॉल करते हैं। हालांकि आपको बता दें कि मुकेश अंबानी और बाकी वीवीआईपी सेलेब्रिटी स्पेशल नंबर यूज करते हैं। इन मोबाइल नंबर्स को न तो आसानी से ट्रैस किया जा सकता है और न ही ये आम लोगों की पहुंच में होते हैं। प्रोफेशनल और बिजनेस कॉलिंग के लिए ये सेलेब्रिटी वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल यानी VOIP सर्विस यूज करते हैं।

Also Read - यह भी पढ़ें

दुनिया के टॉप 5 सबसे खुबसूरत किन्तु अत्यंत विचित्र फूलपृथ्वी पर मौजूद टॉप 5 सबसे विचित्र झरने, क्या आपने कभी ऐसा नजारा देखा है?यकीन मानिए ये पौधे जानवरों को अपने जाल में फंसाकर खा जाते हैं, मांसाहारी पौधेदुनिया के टॉप 10 सबसे विचित्र और हैरान कर देने वाले गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्सधरती पर पाए गए 1…

लॉकडाउन और कर्फ़्यू मे क्या अंतर है? शर्त लगा लो 90% लोग नहीं जानते

Image
लॉकडाउन और कर्फ़्यू मे क्या अंतर है? शर्त लगा लो 90% लोग नहीं जानते - Difference Between Lockdown And Curfew in Hindi



Curfew कर्फ़्यू- कर्फ़्यू और लॉकडाउन के बीच मे प्रशासन की ओर से दी जाने वाली छूट का फर्क होता है। अगर किसी इलाके मे दंगे या हिंसा होती है और प्रशासन स्थिति पर काबू पाने के लिए कर्फ़्यू लगाता है, तो जीतने समय के लिए कर्फ़्यू लगता है उतने समय के लिए जरूरी सेवाएँ जैसे स्कूल-कालेज, बाजार और बैंक भी बंद रहते हैं। जब कर्फ़्यू मे ढील दी जाती है, तभी ये सारी सेवाएँ भी लोगों को मुहैया कराई जाती हैं। अगर कोई व्यक्ति कर्फ़्यू का उल्लंघन करता है तो उस पर जुर्माना या गिरफ्तारी हो सकती है।


Lockdown लॉकडाउन- लॉकडाउन मे जरूरी सेवाएँ बंद नहीं की जाती हैं। जैसा की अभी इस समय हमारे देश मे कोरोना वायरस की वजह से पूरा देश लॉकडाउन किया जा चुका है, लेकिन सभ जगह अस्पताल, बैंक, डेरी, जरूरी सामान के लिए दुकानें खुली हुई हैं। लॉकडाउन के समय लोगों को उनके इलाके या घरों मे रहने के निर्देश दिये जाते हैं और वहाँ से बाहर ना निकालने की सख्त हिदायत दी जाती है। नियम तोड़ने पर पुलिस समझती है तथा बहुत ही जरूरी हाला…

साँप की जीभ दो हिस्सों मे कटी हुई क्यो होती है? वजह जानकर चौंक जाओगे आप

Image
साँप की जीभ दो हिस्सों मे कटी हुई क्यो होती है? वजह जानकर चौंक जाओगे आप


जहां इंसान की जीभ का मुख्य कार्य स्वाद पहचान करना होता है तो वहीं साँप की जीभ सूंघने की प्रक्रिया मे भी मुख्य भूमिका निभाती है।

दोस्तों साँप की जीभ दो हिस्सों मे कटी होने से इसकी सतह का क्षेत्रफल अधिक हो जाता है और इसको क्षीण गंध को समझना भी आसान हो जाता है।


साँप की जीभ दो हिस्सों मे कटी होने से साँप यह भी अंदाजा लगा लेता है की गंध किस दिशा से अरही है। इससे उसे शिकार करने मे बहुत सहता मिलती है, दोस्तों दरअसल बात यह है की विष साँप की जीभ से नहीं निकलता बल्कि इसके लिए साँप के पास खास प्रकार के विष दांत होते हैं।


Also Read - यह भी पढ़ें

दुनिया के टॉप 5 सबसे खुबसूरत किन्तु अत्यंत विचित्र फूलपृथ्वी पर मौजूद टॉप 5 सबसे विचित्र झरने, क्या आपने कभी ऐसा नजारा देखा है?यकीन मानिए ये पौधे जानवरों को अपने जाल में फंसाकर खा जाते हैं, मांसाहारी पौधेदुनिया के टॉप 10 सबसे विचित्र और हैरान कर देने वाले गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्सधरती पर पाए गए 10 अविश्वसनीय वस्तुएं हैं जिनके बारे में कोई नहीं जानता है की यह क्या हैं और कहाँ से आये हैं।दुनिया …

भारत से कितनी ट्रेन विदेश जाती हैं? ये एक ट्रेन तो चलती है अंग्रेजों के जमाने से

Image
भारत से कितनी ट्रेन विदेश जाती हैं? ये एक ट्रेन तो चलती है अंग्रेजों के जमाने से

भारत से बंगलादेश दो ट्रेन चलती हैं जो भारत के कोलकाता से बांग्लादेश के ढाका तक चलती हैं।


मैत्री एक्सप्रेस- इस ट्रेन का साल 2008 मे शुभारंभ किया गया था।

बंधन एक्सप्रेस- इसका शुभारंभ साल 2017 मे किया गया था। ये ट्रेन सप्ताह मे 6 दिन चलती है जो कोलकाता शहर से 375km दूर ढाका शहर तक जाती हैं।

दोस्तों, भारत से पाकिस्तान के बीच भी दो ट्रेन चलती हैं। और ये काफी लोकप्रिय भी हैं क्योंकि भारत-पाकिस्तान बार्डर को दुनिया का सबसे खतरनाक बार्डर मे गिना जाता है।


समझौता एक्सप्रेस- समझौता एक्सप्रेस भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली ट्रेन है भारत मे यह ट्रेन दिल्ली से पंजाब के अटारी श्यामसिंह रेलवे स्टेशन तक जाती है और अटारी से इस ट्रेन को पाकिस्तान रेलवे का इंजन वाघा होते हुए लाहोर तक ले जाता है।

थार एक्सप्रेस- भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली यह एक व्यापक रेल सेवा है। दोनों देशों के बीच चलने वाली यह सबसे पुरानी रेल सेवा है। ये ट्रेन आजादी से पहले अविभाज्य हिंदुस्तान के समय से चलती आ रही है। पहले इसका नाम सिंघ मेल हुआ करता था…