Posts

Showing posts from April, 2020

भारतीय रेलवे, रेल के अन्दर फिल्मों की शूटिंग के लिए लेती है इतने रूपये? जानकर चौंक जाओगे

Image
भारतीय रेलवे, रेल के अन्दर फिल्मों की शूटिंग के लिए लेती है इतने रूपये? जानकर चौंक जाओगे
बॉलीवुड फिल्मों की ट्रेनों में शूटिंग से रेलवे को अच्छी खासी आमदनी प्राप्त होती है। आपने गदर, रंग दे बसंती, भाग मिल्खा भाग आदि फिल्मों में ट्रेनों में शूटिंग होते हुए देखा होगा।

खास बात यह है कि भारतीय रेलवे ने इसमें रेवाड़ी स्टीम लोको शेड का उपयोग किया है। इसी कारण इसे हेरिटेज के तौर पर संभाल के रखा गया है। अगर किसी फिल्म की शूटिंग में एक इंजन और 4 बोगियों की डिमांड हो तो रेलवे 1 दिन के लिए करीब Rs500000 लेता है। वही कुछ दिन पहले भारतीय रेलवे ने फिल्मों की शूटिंग में इस्तेमाल होने वाले रेलवे परिसर और मालगाड़ी के लाइसेंस दर में भी बढ़ोतरी करी है।

यहां तक कि अगर किसी ट्रेन या रेलवे परिसर में फिल्म की शूटिंग हो रही है तो उस हिसाब से रेट भी तक किये थे । जिसमें एक और ए वन केटेगरी वाले स्टेशनों के लिए लाइसेंस फीस प्रतिदिन Rs100000 की दर से देने की तय की गई थी ।इसके अलावा बी वन और बी टु कैटगरी के स्टेशनों के लिए Rs50000 प्रतिदिन अदा करना होता है । इसके अलावा अगर बिजी सीजन में इसका उपयोग किया जाता है तो 15% अ…

क्या उम्रकैद की सजा 14 साल होती है और इसमे दिन और रात गिने जाते हैं?

Image
क्या उम्रकैद की सजा 14 साल होती है और इसमे दिन और रात गिने जाते हैं?


क्या उम्रकैद की सजा मे दोषी को सिर्फ 14 या 20 साल जेल की सजा होती है? क्या इसमे दिन और रात के हिसाब से दिन गिने जाते हैं? वास्तव मे उम्रक़ैद की सजा पाने वाले दोषी को कब तक जेल मे रहना पड़ता है?

इन सभी सवालों के जवाब आपको आज हम देंगे, दोस्तों सबसे पहले यह जानकारी दुरुस्त कर लें की 14 साल या 20 साल जैसा कोई नियम नही है। उम्रक़ैद का मतलब आजीवन कारावास ही होता है।

उम्रक़ैद की सजा यानि एक अपराधी को पूरी जिंदगी जेल मे ही रहना होता है, भारत के सुप्रीम कोर्ट ने भी इस सजा को लेकर स्पष्टीकरण दे दिया था की उम्रक़ैद का मतलब क्या है। उम्रक़ैद का मतलब अपराधी को जीवनभर जेल मे ही रहना होगा। यह भी साफ किया की दिन-रात को दो अलग-अलग दिन के रूप मे नहीं, बल्कि एक दिन के रूप मे ही गिना जाएगा।


दोस्तों अब सवाल यह है की आखिर उम्रक़ैद के लिए 14 साल की सजा की बात क्यों काही जाती है? इसकी एक वजह है। ऐसा क्रिमिनल प्रोसीजर कोड के एक प्रोविज़न की वजह से है जिसमे 14 साल की लिमिट का जिक्र किया जाता है। इस प्रोविज़न के अनुसार जब अपराधी 14 साल की सजा काट लेता है…

रेल इंजन मे AC क्यों नहीं होता है?

Image
रेल इंजन मे AC क्यों नहीं होता है?



रेल के इंजन मे पायलट के लिए ज्यादा अच्छी व्यवस्था नहीं होती है, बस इतनी होती है की आराम से ट्रेन चला पाएँ और एक पंखा लगा दिया जाता है और कई इंजन मे वो पंखा भी काम नहीं करता है। लोको मे ढंग से बैठने की भी व्यवस्था नहीं होती है। एक ही पोजीशन पर लोको पायलट को कई -कई घंटे बैठा रहना पड़ता है और अगर कहीं गर्मी का मौसम हुआ तो हालात और बदतर हो जाते हैं। इंजन की गर्मी ऊपर से सूर्य देवता दोनों मिलकर लोको पायलट का जीना बेहाल कर देते हैं।


दोस्तों भारत मे 90% इंजन बिना AC के हैं। अब नव निर्मित इंजन ही AC से लैस हैं। वरना अधिकतम बस काम चलाऊ हैं, यदि आप कभी अंदर जाएंगे तो इंजन की संरचना देख कर ही समझ जाएंगे की पुराने इंजन AC के अनुकूल बनाए ही नहीं गए थे। खैर अब आ रहे नए इलेक्ट्रिक इंजन मे AC भी आने लगा है। सरकार अब लोको पायलट का भी सोचने लगी है।

Also Read - ( यह भी पढ़ें )


दुनियां के 10 सबसे छोटे देशमाउंट एवेरेस्ट से जुड़े 10 रोचक तथ्य जिन्हें आपको जानना चाहिएदुनिया की 10 सबसे ख़राब और खतरनाक जेलपृथ्वी पर 10 सबसे खतरनाक जानवर जिन्हें जानकर आपकी सारी गलतफहमियां दूर हो जाएं…

हाथी के दाँत इतने कीमती क्यों होते हैं?

Image
हाथी के दाँत इतने कीमती क्यों होते हैं?



हाथी दाँत या गजदंत हाथी के उन दो दांतों को कहते हैं जो हाथी के मुंह से बाहर निकले रहते हैं और बहुमूल्य माने जाते हैं। पुराने समय मे इनसे कई प्रकार की बहुमूल्य वस्तुएँ निर्मित की जाती थी, यहाँ तक की मनुष्य के नकली दाँत भी इनसे बनते थे। हाथी दाँत के कई सजावटी और व्यावहारिक उपयोग हैं।


इनमे हाथ मे पहनने की चूड़ियाँ, कंगन, गहने रखने के बक्से आदि शामिल हैं। दोस्तों प्लास्टिक के ईजाद होने से पहले, यह बिलियर्ड् गेंदों, पियानो चाबियों, स्कॉटिश बैगपाइपर (वाघयन्त्र), बटन और विस्तरत सजावटी समान के लिए इस्तेमाल किया जाता था।

Also Read - ( यह भी पढ़ें )


दुनियां के 10 सबसे छोटे देशमाउंट एवेरेस्ट से जुड़े 10 रोचक तथ्य जिन्हें आपको जानना चाहिएदुनिया की 10 सबसे ख़राब और खतरनाक जेलपृथ्वी पर 10 सबसे खतरनाक जानवर जिन्हें जानकर आपकी सारी गलतफहमियां दूर हो जाएंगीदुनिया भर के टॉप 10 विचित्र रस्मो रिवाजधरती पर पाए गए 10 अविश्वसनीय वस्तुएं हैं जिनके बारे में कोई नहीं जानता है की यह क्या हैं और कहाँ से आये हैं।दुनिया के टॉप 10 सबसे विचित्र और हैरान कर देने वाले गिनीज वर्ल्ड रिक…

किन्नर ताली क्यो बजाते हैं?

Image
किन्नर ताली क्यो बजाते हैं?



ताली की खास आवाज और उसे बजाने के तरीके से एक किन्नर, दूसरे की पहचान कर लेता है। अक्सर किन्नर स्त्रियॉं के कपड़ों मे होते हैं लेकिन कई बार वे पुरुषों की पोशाक मे भी होते हैं। ऐसे मे अपनी बिरादरी के लोगों से घुलने-मिलने के लिए उन्हें ताली बजाकर अपने असल होने का सबूत देना होता है।

दोस्तों वैसे तो किन्नर शादी-ब्याह या जन्मोत्सव जैसे मौकों पर ही अचानक घर पहुँच जाते हैं और ताली बजाकर खुशी का इजहार करते हैं लेकिन अपने समुदाय मे वे ताली के जरिये भी भावनाएँ जाहीर करते हैं। गुस्सा होने या खुशी मे वे बात करते हुए ताली बजाते जाते हैं।


दोस्तों किन्नरों के ताली बजने का अपना अलग ही तरीका होता है। आम ताली मे दोनों हाथ वर्टिकल या हॉरिजॉन्टल होते हैं और उँगलियाँ आपस मे लगभग जुड़ी होती हैं। वहीं किन्नर जब ताली बजते हैं तो एक हाथ वर्टिकल और एक हॉरिजॉन्टल तरीके से आपस मे जुड़ता है और उँगलियाँ एकदम दूर-दूर होती हैं। इस ताली से खास तरह की आवाज निकलती है जो काफी ऊंची होती है।


Also Read - ( यह भी पढ़ें )


दुनियां के 10 सबसे छोटे देशमाउंट एवेरेस्ट से जुड़े 10 रोचक तथ्य जिन्हें आपको जानना चाहिए